ख़ूबसूरत यादें

उम्मीद रख प्यार किया है -मैंने कहा तो था कुछ ऐसा ही -तुमने कायम तो है पूरी दुनिया, उम्मीद पर तो कर लिया उम्मीद , खा ली कसमे, महबूबा-तेरे साथ रहने की ,दिल से पास रहने की पास तो आज भी हूं -तेरे पर दिल कहीं दूर है -मेरा भी -तेरा भी , शायद, धड़कन... Continue Reading →

Suicide Note

कुछ बातों का पता नहीं चलता ,कब कैसे हो गया,कब कैसे हो जाता है.हम चाहतें भी नहीं है करना ,फिर भी पता नहीं कैसे हो जाता है ,क्यों हो जाता है.सच्चाई तो इस बात में भी है की यंहा कुछ भी बिना मतलब का नहीं होता ,फिर भी पता नहीं हम सब हर वक़्त यही... Continue Reading →

Powered by WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: