कुछ यादें जो बनने बांकी है (NIT Silchar)

कमरे में था बैठा की एक ख्याल आया , कितने दिन 8-10 रोज हो गए आये यहाँ  , अभी तो यादें बनने शुरू भी नही हुई यहाँ बहुत सारी यादें बनानी यहाँ , नया शहर है नयी सी कुछ बात यहाँ , सबने कहा मनीष मत जाना वहाँ, सबकी बातें छोड़ अपने दिल की सुन,... Continue Reading →

Advertisements

Life is a PROGRAM

  जीवन क्या है ,एक Program, Header file इसके भगवान, Semicolon इसके प्राण , Main function है इसकी जान ज्यों छूटे किसी के प्राण , त्यों हो उसका सर्वनाश, जिसने इसपर फ़तह पाया Python वह कहलाया, जब कोई बात नहीं बने तो , if _else ही काम आया, साथ अपने switch को भी लाया, तभी... Continue Reading →

ख़ूबसूरत यादें

उम्मीद रख प्यार किया है -मैंने कहा तो था कुछ ऐसा ही -तुमने कायम तो है पूरी दुनिया, उम्मीद पर तो कर लिया उम्मीद , खा ली कसमे, महबूबा-तेरे साथ रहने की ,दिल से पास रहने की पास तो आज भी हूं -तेरे पर दिल कहीं दूर है -मेरा भी -तेरा भी , शायद, धड़कन... Continue Reading →

Suicide Note

कुछ बातों का पता नहीं चलता ,कब कैसे हो गया,कब कैसे हो जाता है.हम चाहतें भी नहीं है करना ,फिर भी पता नहीं कैसे हो जाता है ,क्यों हो जाता है.सच्चाई तो इस बात में भी है की यंहा कुछ भी बिना मतलब का नहीं होता ,फिर भी पता नहीं हम सब हर वक़्त यही... Continue Reading →

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑

%d bloggers like this: